ऑस्कर अवार्ड में जब जोकिन फीनिक्स ने बयां किया डेयरी गायों का दर्द!

ऑस्कर अवार्ड समारोह एक चकाचोंध भरा, विशुद्ध रुप से ग्लेमर और मनोरंजन से भरपूर समारोह होता है। ऐसे समारोह में जोकिन फीनिक्स ने अपने अवार्ड भाषण में जानवरों के मूलभूत अधिकारों की बात कर सबको चौंका दिया।

जोकिन फीनिक्स : एक परिचय

जोकिन फीनिक्स 28 अक्टूबर, 1974 को जन्मे एक अमेरिकी अभिनेता और निर्माता हैं। उन्हें कई पुरस्कार मिले हैं, जिनमें एक अकादमी पुरस्कार, एक ग्रेमी अवार्ड और दो गोल्डन ग्लोब शामिल हैं।

फीनिक्स लंबे समय से एक सामाजिक कार्यकर्ता रहे हैं, उन्होंने  कई चैरिटी और मानवीय संगठनों, जैसे एमनेस्टी इंटरनेशनल, को अपना समर्थन भी दिया है। 

अप्रैल 2005 की शुरुआत में, फीनिक्स ने शराब की लत से लिए छुटकारा पाने के लिए एक पुनर्वसन केंद्र की सहायता ली थी। अपनी धार्मिक पृष्ठभूमि पर, फीनिक्स ने कहा है, “मेरे माता-पिता ईश्वर में विश्वास करते थे। मैं यहूदी हूँ, मेरी माँ यहूदी हैं, लेकिन वह यीशु पर विश्वास करती हैं। लेकिन वे कभी धार्मिक नहीं थे।

फीनिक्स व्यापक रूप से अपने पशु अधिकारों की वकालत के लिए जाने जाते हैं और वह एक वीगन हैं। वर्षों से वह पशु अधिकारों के संगठनों के साथ सहयोग करते आये हैं, ताकि वे पशुओं के साथ होने वाले दुर्व्यवहार के बारे में जागरूकता फैला सकें और वीगनिस्म को बढ़ावा दे सकें।

फीनिक्स, इन डिफेंस ऑफ एनिमल्स और पेटा के सदस्य हैं और दोनों के लिए प्रचार भी करते हैं। वह जानवरों की खाल से बने कपड़े नहीं पहनते हैं। अपनी फिल्मों में, वह अनुरोध करते हैं कि चमड़े की पोशाक सिंथेटिक सामग्री से बनाई जाए।

ऑस्कर अवार्ड, जोकिन फीनिक्स और डेयरी उद्योग।

ऐसा बहुत कम ही देखने को मिलता है जब कोई विश्वस्तरीय मंच से ऐसी बात कहने का साहस करता है, जिससे न केवल अधिकांश लोग असहमति रखते हैं वरन इसके विरोध में भी होते हैं।

ऐसा ही सहस दिखाया फीनिक्स ने, जिन्होंने “जोकर” में अपनी शानदार भूमिका के लिए रविवार को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अकादमी पुरस्कार जीता। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि –

मुझे लगता है कि हम प्राकृतिक दुनिया से बहुत अलग हो गए हैं। हम में से कई लोग एक अहंकारी विश्व दृष्टिकोण के दोषी हैं, और हम मानते हैं कि हम ब्रह्मांड का केंद्र हैं। हम प्राकृतिक दुनिया में जाते हैं और हम इसे अपने संसाधनों के लिए लूटते हैं।

हम एक गाय को कृत्रिम रूप गर्भवती करना अपना अधिकार समझते हैं, और जब वह बछड़े को जन्म देती है, तो हम उसके बच्चे को चुरा लेते हैं, भले ही उसकी पीड़ा हमें स्पष्ट नज़र आ रही हो।

फिर हम उसका दूध लेते हैं, जो उसके बछड़े के लिए है और हम इसे अपने कॉफी और भोजन में प्रयोग करते हैं। “

फीनिक्स के भाषण पर प्रतिक्रियाएं

दिल को छू लेने वाला Joaquin Phoenix का यह भाषण पूरे विश्व में चर्चा का विषय रहा। जहाँ डेयरी उद्योग और इससे जुड़े लोगों ने उनकी आलोचना की वहीं अधिकांश लोगो ने इसे एक साहसिक और ऐतिहासिक भाषण बताया।

विश्व के प्रमुख समाचार पत्रों York TimesCNNGuardianIndia TodayUSA TodayTelegraph  आदि ने उनकी बात को प्रमुखता से रखा और सोशल मीडिया में भी उनके भाषण की काफी सराहना हो रही है।

भारत की अग्रणी दूध उत्पाद बनाने वाली कम्पनी अमूल के नवीनतम विज्ञापन में उनके डेयरी उद्योग को आईना दिखने वाले बयान से बोखलाहट साफ़ नज़र आयी

अमूल के इस विज्ञापन पर PeTA India ने भी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

Twitter पर अमूल के इस विज्ञापन को आमजन, पशु अधिकार कार्यकर्ता और संस्थाओं ने भी आड़े हाथों लिया और इसे अमूल के लिए शर्मनाक बताया। https://twitter.com/Amul_Coop/status/1226840534053945345

निसंदेह जोकिन फीनिक्स का यह भाषण पूरी दुनिया में करुणा का सन्देश देने में काफी हद तक सफल हुआ है, लेकिन अभी यह सिर्फ एक शुरुआत है। भारत में भी बहुत सी प्रसिद्द हस्तियों ने वीगन जीवन शैली अपनायी है लेकिन यह देखना होगा कि वह कितनी मुखरता से पशु अधिकारों के प्रति अपनी आवाज़ उठाने का साहस जुटा पाते हैं।

डेरी फार्म में बछड़ों के साथ क्रूरता का खुलासा, उपभोक्ता स्तब्ध !

Be the first to reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *