डेयरी व्यवसाय और एक सांड की पीड़ा!

डेयरी व्यवसाय में गाय की भूमिका तो स्पष्ट नज़र आती है लेकिन इसमें एक सांड की क्या भूमिका होती है? किस तरह सांड की भूमिका समय के साथ बदली है? और क्या सांड भी गाय की तरह इस उद्योग में […]

गाय का कृत्रिम गर्भाधान (Artificial insemination) कैसे होता है?

कृत्रिम गर्भाधान डेयरी उद्योग में वह प्रक्रिया होती है जिसके द्वारा गायों को डेयरी मालिक की मर्जी से गर्भवती करवाया जाता है ताकि उसके बछड़ा पैदा हो और वह दूध देने लगे। वैसे तो किसी भी प्राणी में गर्भाधान एक […]

क्या डेयरी, क्रूरता से मुक्त हो सकती है?

भारत में जहाँ गायों को पूज्यनीय और माता माना जाता है वहां डेयरी क्रूरता के बारे में कोई बात करना तो दूर इस बारे में कुछ सुनना भी नहीं चाहता है। गायों को पालना एक पुण्य का कार्य समझा जाता […]

Cheese पर कैंसर की चेतावनी की मांग!

दूध को बहुत ज्यादा महिमा मंडित किया जाना और विशेषकर भारत में इसे धर्म और स्वास्थ्य के साथ इतनी मजबूती से जोड़ा गया है कि आज भारत में दूध और इससे बने उत्पाद जैसे दही, मक्खन चीज़ (Cheese), पनीर, घी […]

घर पर गाय पालन करना और उसका दूध निकलना कितना सही है?

गाय हमारी माता है और हमको दूध देती है। यह वह शिक्षा हैं जो बचपन से हमारे बच्चों को दी जाती है। इसलिए जब बड़े होने पर यह कहा जाता है कि गाय हमारी नहीं बछड़े की माँ है और […]

कैसे आपका शाकाहारी भोजन बन सकता है निरवद्य (Vegan)?

भारत के शाकाहारी भोजन में डेयरी उत्पाद और शहद का प्रयोग बहुत ज्यादा प्रचलित है विशेष रूप से उत्तर भारत में। इसलिए किसी भी व्यक्ति के लिए जो निरवद्याहारी (वीगन) है, वीगन खाना ढूँढना बहुत मुश्किल हो जाता है । […]

क्या अब हिन्दू संगठनों को भी गौ हत्या से एतराज़ नहीं है?

हाल ही में जब एक अंग्रेजी समाचार पत्र में यह समाचार पढ़ा कि अब कुछ हिन्दू संगठनों को भी कुछ शर्तों के साथ गौ हत्या से कोई ऐतराज़ नहीं है। तब लगा कि इंसान जानवरों से जुड़े सारे कानून और […]

क्या दूध शाकाहार है या मांसाहार?

क्या दूध शाकाहार है? अगर हिंदी में शाकाहार और मांसाहार की परिभाषा देखें तो दूध किसी भी दृष्टि से न तो शाकाहार कहा जा सकता है न ही मांसाहार। लेकिन अगर अंग्रेजी में vegetarian और non vegetarian की परिभाषा देखें […]

दूध और पर्यावरण : दूध उत्पादन कैसे हमारे पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहा है?

दूध और पर्यावरण में गहरा रिश्ता है और बढ़ता दूध उत्पादन ग्रीन हाउस गैसेस के उत्पादन के लिए जिम्मेदार है। हमारे यहाँ ऐसी कहावत है कि पुराने ज़माने में भारत में दूध की नदियां बहती थी। यह कहावत क्यों और […]

ब्लड मील (Blood meal) क्या होता है?

मुझे याद है कुछ समय पूर्व अमेरिका इस बात पर भारत से नाराज़ था कि भारत में इतना बड़ा दूध का बाज़ार होते हुए भी भारत अमेरिका में उत्पादित दूध और उससे बने उत्पादों को देश में बेचने की इजाजत […]

क्या शाकाहारी लोगों को प्रोटीन की जरूरत के लिए दूध पीना जरुरी है?

प्रोटीन क्या होता है? इंसान प्रोटीन दो माध्यम से ग्रहण करता है। शाकाहारी प्रोटीन और माँसाहारी प्रोटीन। शरीर के समुचित विकास के लिए जरुरी तीन स्थूल पोषक तत्वों (essential macro nutrients) में से एक प्रोटीन होता है जो शरीर की […]

क्या गौशालाएं ही आवारा गायों की समस्या के लिए उपयुक्त समाधान है?

गौशाला, यह शब्द सुनते ही ऐसा लगता है जैसे कि यह कोई जगह है जो गायों के लिए स्वर्ग सामान होगी। गौशालाएं जहाँ बहुत सी गायें निस्वार्थ भाव से रखी जाती होंगी और उनकी सेवा की जाती होगी। अगर ऐसी […]

क्या गाय का बछड़ा उसकी माँ का सारा दूध पी सकता है?

डेयरी उद्योग पूरी तरह उस मादा पर निर्भर होता है, जिसके बच्चा होता है और उसके बाद उसके आँचल में दूध आता है। वैसे तो हम सब इस बात से भली-भाँती परिचित हैं कि प्रकृति के नियमानुसार किसी भी स्तनधारी […]

भैंसे सड़कों पर आवारा क्यों नहीं घूमती?

आज दूध उत्पादन का अधिकांश भाग भैंसो द्वारा प्राप्त किया जाता है क्योंकि भैंस के दूध में वासा की मात्रा ज्यादा होती है और जिसके कारण उसके दाम भी ज्यादा मिलते हैं। भैंस दूध द्वारा बनाये जाने वाले उत्पाद- दही, घी, पनीर […]

क्या अब समय आ गया है डेयरी को ना कहने का?

जब आँख खुले तभी सवेरा!  जी हाँ कभी-कभी कोई नींद की दवाई ले कर सो जाता हैं तो आसानी से आँखें नहीं खुलती और उठना बहुत ही तकलीफ़देह होता है। सच्चाई यही है कि चाहे कितनी भी गहरी नींद हो, […]