दूध उत्पाद(मावा) के बिना कैसे बनायें गुलाब जामुन?

गुलाब जामुन सुनते ही मुँह में पानी आ जाता है। लेकिन जब यहअहसास हो जाता है कि यह रसीली मिठाई भी क्रूरता से अछूती नहीं है तब कुछ मीठा खाने की इच्छा एक ऐसी मिठाई की तलाश करती है जिसको बनाने के लिए किसी प्राणी को सता कर उसका दूध नहीं निकाला गया हो।

ज्यादातर भारतीय मिठाईयां बिना दूध और दूध उत्पाद के नहीं बनती है लेकिन जब मन में एक जूनून सवार हो जाता है कि बस अब जिव्हा के स्वाद के लिए किसी भी बछड़े की माँ के छीने हुए दूध की मिठाई की जगह वही स्वाद सिर्फ वनस्पतिजन्य सामग्री से बनी मिठाई में भी आना चाहिए तो रास्ते निकल ही आते है, और बन जाती है कुछ क्रूरता से मुक्त स्वादिष्ट मिठाई

जैसे-जैसे वीगन लाइफस्टइल (निरवद्याचार) के प्रति जागरूकता बढ़ रही है विभिन्न प्रकार की मिठाईयों में वीगन लोगों द्वारा दूध को हटा कर वनस्पतिजन्य सामग्री का उपयोग कर विभिन्न प्रयोग किये जा रहे हैं।

इसी क्रम में गुलाब जामुन जैसी मिठाई का भी वीगन विकल्प वीगन गुलाब जामुनअब बहुत सानी से घर पर ही बनाया जा सकते हैं।

वीगन गुलाब जामुन

जरुरी सामग्री

शकरकंद 1 किग्रा को सेक कर निकला गया गूदा लगभग 350 ग्राम

काजू पाउडर 50 ग्राम

ओट्स पाउडर 20 ग्राम

मैदा 20 ग्राम

इलायची पाउडर 1/2 छोटा चम्मच

किशमिश गुलाब जामुन में भरने के लिए।

बेकिंग पाउडर 1/4 छोटा चम्मच

शक़्कर 1 चम्मच और नमक चुटकी भर

तेल गुलाब जामुन तलने के लिए

चाशनी बनाने के लिए शक़्कर 1 कप (200 ग्राम) और पानी 1/2 कप)

क्या दूध शाकाहार है या मांसाहार?

बनाने का तरीका

शकरकंद को ओवन में सेक कर गूदा निकाल लें और छलनी से छान लें। इस तरह एकदम स्मूथ गूदा मिल जायेगा।

यहाँ ध्यान रहे शकरकंद को पानी में न उबालें नहीं तो गूदे में पानी की मात्रा ज्यादा हो सकती है।

गूदे में काजू पाउडर, ओट्स पाउडर, मैदा, बेकिंग पाउडर, इलायची पाउडर और थोड़ी सी शक़्कर और नमक मिला कर अच्छे से गूँथ लें।

अगर नमी ज्यादा लगे तो कुछ देर खुला छोड़ दें।

अब गूदे से छोटी-छोटी निम्बू के आकर की या उससे थोड़ी छोटी बॉल्स बना लें। बनाते समय बीच में हर जामुन में एक किशमिश रखते जाएँ।

चाशनी बनाने के लिए जितनी शक़्कर है उसका आधा पानी डाल कर एक उबाल ले लेवें।

जामुन तलने के लिए तेल अच्छा गर्म करें। अगर तेल अच्छा गर्म नहीं होगा तो गुलाब जामुन बिखर सकते हैं जैसा नीचे फोटो में दिखाई दे रहे हैं।

कम गर्म तेल में तले जामुन बिखर सकते हैं

शुरू में तेज आंच पर तलें फिर हल्का भूरा रंग आने पर आंच धीमी कर गहरा भूरा होने तक तलें।

गरम-गरम ही चाशनी में डाल कर 1 घंटे तक रहने दें।

स्वादिष्ट क्रूरता मुक्त गुलाब जामुन तैयार हैं।

vegan gulab jamun

गरमा-गर्म या फ्रिज में ठंडा कर खाएं और खिलाएं।

पूरी विधि का वीडियो यहाँ देखें

दूसरी वीगन रेसिपीज के लिए यहाँ देखें

Be the first to reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *